thick 373064 1920
20/07/2020 द्वारा shiv3376 1

ऐसा मोटापा जान लेवा है Such obesity is life

ऐसा मोटापा जान लेवा है Such obesity is life

ऐसा मोटापा जान लेवा है Such obesity is life

ऐसा मोटापा जान लेवा है Such obesity is life

दोस्तों क्या आप जानते हैं . मोटापा भी कई प्रकार का होता है . जैसे की आपने देखा होगा की कुछ लोग  मोटे तो होते हैं . लेकिन मोटापे के बाद भी उनका पेट बहार नहीं होता है। बहीं कुछ लोगो का  पेट इतना मोटा हो जाता है की उनका पेट लटक जाता है और चलते  समय हिलने डुलने लगता है एसे लोगो को हर काम करने में खासा परेशानी का सामना करना पड़ता है ऐसे लोग कुछ समय के बाद डिप्रेशन का भी शिकार हो सकते हैं अतिरिक्त वजन के कारण वह किसी कार्य को सही प्रकार से नहीं कर सकते ऐसे लोगों पर नाही वस्त्र अच्छे लगते है ना ही कोई पहनावा क्योंकि उनका मोटापा अलग से झलकता है

मोटापे का मुख्य कारण

प्रतिदिन हम जो भोजन करते हैं उसमें अलग-अलग तरह के बसा होते हैं जिसे हमारा शरीर भविष्य के लिए बसा संग्रहित कर के रखता है यह आवश्यक भी होता है परंतु बसा की मात्रा अधिक बढ़ जाने के कारण यह मोटापे के रूप में दिखाई देने लगता है इससे पहले की शरीर में जमीन बसा मोटापे के रूप में दिखाई देने लगे उससे पहले हमें सतर्क हो जाना चाहिए यदि आप हर दिन अपने शरीर की आवश्यकता से अधिक भोजन खाते हैं. तो आपके शरीर में अतिरिक्त वसा जमा हो जाती है. और आप मोटे हो जाते हैं।

मोटापे के प्रकार

मोटापे के प्रकार की बात की जाए तो मोटापा दो प्रकार के होते हैं

1    आंत का बसा

यदि आपके शरीर की त्वचा मोटापे के बाद भी कठोर है हाथ से पकड़ने में कठोरता महसूस होती है तो समझ लीजिए यह आंत का बसा है जो कि बाहर पूर्ण रूप से उभर कर नहीं आता इस तरह का मोटापा अत्यधिक खतरनाक होता है यूं कहा जाए तो यह जानलेवा भी हो सकता है ऐसे मोटापे को कंट्रोल करने के लिए तत्काल नियमित व्यायाम शुरू करने की आवश्यकता होती है साथ में भोजन का भी अत्यधिक ध्यान रखना पड़ता है

२    चमड़े के नीचे का बसा

यदि आपकी त्वचा मोटापे के बाद भी मुलायम रहती है हिलती डुलती रहती है तो यह समझ लीजिए की यह चमड़े के नीचे का बसा है जो कि इतना खतरनाक नहीं होता परंतु शरीर का आकार अत्यंत भद्दा कर देता है ऐसे लोग दूर से मोटे दिखाई देने लगते हैं

शरीर के लिए कितना बसा आवश्यक है

 वास्तव में थोड़ी मात्रा में  वसा आपके शरीर के लिए आवश्यक है। यह वसा आपके शरीर के आंतरिक अंगों की रक्षा करता है और शरीर इस वसा का उपयोग बीमारी, थकान या उपवास आदि जैसी स्थितियों में ऊर्जा प्रदान  करता हैध्यान रखने की  बात है की शरीर पर  इतना वसा जमा न हो कि बेल्ट लगाने के बाद आपका पेट अलग से बाहर दिखे। इसके अलावा, पूरे दिन अपने शरीर को सक्रिय रखना भी बहुत महत्वपूर्ण है।

कौन सा वसा अधिक खतरनाक है?

 चमड़े के नीचे की वसा आपकी त्वचा के निचले हिस्से में जमा होती है। आप आसानी से इस वसा को देख सकते हैं. और यह वसा  आपके शरीर के आकार को खराब करती है. जैसे कि पेट. जांघों.  बाहों.  गर्दन के आसपास जमा वसा। यह बसा बहार की तरफ होता है 

मोटापा

 आंत का वसा   वह होता है जो आपके पेट के अंदरूनी हिस्से में गहराई से जमा होता है। यह वसा आपके आंतरिक अंगों के आसपास भी जमा हो जाती है और शरीर के कार्य में बाधा डालने लगती है। इसे अधिक खतरनाक माना जाता है। यह वसा आपके शरीर में कोलेस्ट्रॉल के उत्पादन को बढ़ाता है और मधुमेह, कैंसर, उच्च रक्तचाप और हृदय रोगों सहित कई गंभीर बीमारियों को बढ़ावा देता है। इसलिए, जिन लोगों का मोटापा सख्त होता है, वे स्वास्थ्य के खतरों और बीमारियों से अधिक ग्रस्त होते हैं।

वजन कम करने के  उपाय

  • जब आपको भूख लगे तो आप खाना जरूर खाएं और पूरा खाएं। लेकिन घटते कार्बोहाइड्रेट से वसा कम न करें। आप मक्खन, घी आदि को सीमित मात्रा में ले सकते हैं।
  • अगर आप समय-समय पर कुछ खाते रहते हैं, तो वजन कम करना मुश्किल हो सकता है। ऐसी स्थिति में एक बार संतुष्ट होकर खाएं। अगर आपको भूख नहीं है तो कुछ भी न खाएं 
  • अगर आप एक महिला हैं और वजन कम करना चाहती हैं, तो फल खाने से बचें। आपको यह बात अजीब लग सकती है, लेकिन सच्चाई यह है कि फलों में पर्याप्त मात्रा में चीनी होती है जिससे वजन कम करना मुश्किल हो जाता है। पुरुषों के लिए भी यही बात लागू होती है, लेकिन महिलाओं के लिए चीनी की मात्रा कम करना मुश्किल होता है।
  •  यदि आप कोई दवा ले रहे हैं, तो उसमें मौजूद सभी तत्वों के बारे में जानकारी लें। कई दवाएं हैं जिनके उपयोग से वजन भी बढ़ता है। ऐसी स्थिति में दवाओं की समीक्षा आवश्यक है।
  •  स्वस्थ आहार हमारे स्वास्थ्य का आधार है। यदि इसमें पूरे विटामिन और खनिज शामिल नहीं हैं, तो बार-बार कुछ खाने की लालसा होगी। और जब आप नियंत्रित नहीं कर पाएंगे, तो समय पर कुछ भी खाने से वजन बढ़ जाएगा। बेहतर है कि आप उन्हें भोजन में कमी न करने दें और डॉक्टर से एक अच्छा मल्टीविटामिन लेने के लिए कहें। वैसे, अनुसंधान यह भी साबित करता है कि इस तरह के पूरक वजन घटाने में मदद करते हैं।
  • यदि आप पूरे दिन को नियंत्रित करने में असमर्थ हैं, तो इसे बीच में उपवास रखें। अपनी क्षमता के अनुसार, यदि आप चाहें, तो अगली सुबह के नाश्ते के लिए दोपहर के भोजन के बीच कुछ भी न खाएं। या नाश्ते के बाद दोपहर का भोजन न करें और रात का भोजन जल्दी करें। आप इस व्रत को इस तरह भी रख सकते हैं – या तो आज रात का खाना खाएं और अगले दिन कुछ भी न खाएं और रात का भोजन सीधे ही करें। या सप्ताह में 5 दिन अपनी पसंद से खाएं और दो दिन पूरी तरह से छोड़ दें। बीच में, आप बिना चीनी या कम चीनी के चाय या कॉफी ले सकते हैं।

 

  •  यदि आप अपना वजन कम करना चाहते हैं, तो यह बहुत महत्वपूर्ण है कि आप स्मार्ट तरीके से व्यायाम करें। इस तरह से एक्सरसाइज करें कि फुल बॉडी वर्कआउट हो। चलना. साइकिल चलाना. दौड़ना. योग करना आदि . इसके लिए सबसे अच्छे तरीके हैं।
मोटापा