bitter gourd 2
06/05/2021 By shiv3376 0

करेला bitter gourd

करेला bitter gourd

कुछ लोग इसे खाने से बचते हैं। लेकिन करेले को सेहत के लिए औषधि माना जाता है। कुछ लोगों को सिर्फ इतना पता है कि करेला डायबिटीज में फायदेमंद होता है। लेकिन ऐसा नहीं है करेला कई बीमारियों में भी फायदेमंद होता है.
करेला स्वाद में कड़वा होता है. लेकिन इसके कई फायदे हैं। आइए जानते हैं करेले के फायदे, करेला हमें कई बीमारियों से बचाता है।

भूख में कमी (करेला bitter gourd)

दोस्तों अगर आपको भूख नहीं लगती है तो आपको पुरानी कब्ज हो सकती है। ऐसे में करेले को सुखाकर पीस लें। फिर इसमें मेथी, अजवाइन और काला नमक मिलाएं।
सेवन बिधि :-करेला bitter gourd

रात के खाने के बाद गुनगुना करके एक छोटा चम्मच लें। ऐसा आपको एक हफ्ते तक करना है। आपको भूख भी लगेगी और आपका पेट साफ रहेगा।

पाचन तंत्र के लिए फायदेमंद

करेला पाचन तंत्र के लिए बहुत अच्छी औषधि मानी जाती है। आयुर्वेद को जानकर करेले को पेट के लिए औषधि माना जाता है।

उनका मानना ​​है कि करेले में ऐसी शक्ति होती है जो पेट के अंदर के पित्त को साफ करती है। जो पेट के पाचन तंत्र को स्वस्थ रखता है.एवं पित्त रस को नियंत्रित करने में मदत करता है .

पेट दर्द में फाएदेमंद हें

जैसा कि हम जानते हैं कि पेट के सभी रोगों का मूल कारण पेट में कब्ज है। कब्ज एक ऐसी बीमारी है जो हमें कई तरह की बीमारियां देती है।

और करेला कब्ज का नाश करने की दबा है। यदि आप रोजाना 15 दिन तक उबाल कर करेले का सेवन करते हैं तो इसके सेवन करने से पेट की कब्ज दूर हो जाएगी और पेट का दर्द भी ठीक हो जाएगा।

बुखार में फायदेमंद

विद्वानों का मानना ​​है कि करेला बुखार से राहत दिलाने में भी कारगर है। आप सामान्य आकार का करेला लें। इसे पीसकर उबाल लें। अब इसे छान लें और पानी को गिलास में डाल दें।

और इसमें 15 सूखे अंगूर डालें और फिर इसे ठंडा होने दें। आधा-आधा दो बार पिएं, एक बार सुबह नाश्ते के बाद, फिर रात के खाने के बाद, आप इसे 4 या 5 दिनों तक कर सकते हैं,

आपके शरीर के अंदर का बुखार निकल जाएगा और आप तरोताजा महसूस करेंगे।

खांसी के लिए उपयोग

अगर आपको खांसी और कफ की समस्या है। तो आप एक सामान्य आकार के करेले को उबाल लें और उसे दो चम्मच शहद के साथ पीसकर सुबह-शाम खाएं, जिससे आपको खांसी बंद हो जाएगी। साथ ही कफ की समस्या भी खत्म हो जाएगी, ऐसा आपको लगातार एक हफ्ते तक करना है।

इसके आलावा करेला अनेको प्रकार के रोगों के लिए उपयोगी है जेसे :-

नेत्र रोग में लाभकारी
गर्भाशय रोग में लाभकारी
दुर्बलता को दूर करता है
सीने में जलन से राहत दिलाता है
श्वसन विकारों से छुटकारा दिलाता है
चिड़चिड़ापन में फायदेमंद

बवासीर में फायदेमंद

मनुष्यों में बवासीर का सबसे बड़ा कारण कब्ज है। अगर कोई इंसान लंबे समय से पेट में कब्ज की समस्या से जूझ रहा है तो स्वाभाविक है कि उसे बवासीर जैसी बीमारी हो सकती है।

करेला सीधे तौर पर कब्ज को प्रभावित करता है। कहने का मतलब यह है कि करेला खाने वालों को बवासीर जैसी बीमारी नहीं होती है और करेला पेट को साफ रखने में भी काफी मददगार होता है.

करेले का रस

करेले का रस औषधि माना जाता है। जो आपके शरीर के सभी रोगों को नष्ट कर देता है। यह आपके ब्लड शुगर को नियंत्रित करता है।

साथ ही आपका ब्लड प्रेशर भी नियंत्रित रहता है। अगर आपका ब्लड शुगर बढ़ गया है तो आप रोजाना एक गिलास करेले का जूस पिएं, इससे आपका ब्लड शुगर के साथ-साथ आपका ब्लड प्रेशर भी नियंत्रित रहेगा।

रक्त शुद्ध करता है

आपने देखा होगा कि किशोरावस्था में कुछ लोगों के चेहरे पर बहुत ज्यादा पिंपल्स हो जाते हैं। यह ज्यादातर रक्त की अशुद्धि के कारण होता है।

खून को शुद्ध रखने के लिए आप करेले का सेवन करें और करेले का जूस भी पिएं, इससे आपका खून साफ ​​हो जाएगा। आपके चेहरे की झाइयां और पिंपल्स भी खत्म हो जाएंगे और आपकी त्वचा में निखार भी आएगा।
karela,करेला bitter gourd