12/08/2020 By shiv3376 0

दाद खाज खुजली की आयुर्वेदिक दवा

दाद-खाज-खुजली-की-आयुर्वेदिक-दवा

दाद खाज खुजली की आयुर्वेदिक दवा

दाद खाज खुजली की आयुर्वेदिक दवा

दाद  त्वचा  की    ऊपर बाली   परत में फैलने बाला रोग  होता है। दाद एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता  है।  इसे (Tinea) भी कहा जाता  हैं। यह  त्वचा पर गोल और लाल और उभरे हुए धब्बो  के रूप में दिखाई देता है।

यह जब होता है तब बहुत परेशान करता है। बिना चाहते हुए भी आपका हाथ इस पर पंहुच जाता है जोकि देखने वालों को बहुत भद्दा महसूस होता है। परंतु आपको यह एहसास नहीं हो पाता क्योंकि इसमें खुजलाने में कुछ समए के लिए बड़ा सुखद एहसास मिलता है। और बाद में जलन शुरू हो जाती है।

दाद और खुजली होने के कारण

  • आपको पता है  की दाद और  खुजली किस कारण  होता  है, पहचान कैसे होती  है।  खुजली एक प्रकार की स्किन  डिसीस  है।और  यह तरह का फंगल इन्फेक्शन  होता से है। दाद के कारण  काफी परेशानी का सामाना करना पड़  सकता है  है। इसलिए यहां हम आप के लिए इस समस्या से बचने के घरेलू उपाय ((khujli ke upay)) लेकर आए हैं  हैं।
  • विशेषज्ञों का मानना है कि शरीर पर दाद और खुजली का कारण पेट की कब्ज या रक्त की अशुद्ध की बजह से होता है उनका मानना है कि यदि आपका पेट नियमित रूप से साफ होता है तो आपके शरीर पर दाद और खुजली जैसे इंफेक्शन ना के बराबर होंगे और रक्त की अशुद्धि का कारण भी पेट की गंदगी ही होता है
  • अत्यधिक मात्रा में मीठा  या मिर्च मज़ेदार भोजन करने की बजह से भी यह बिमारी होने की सम्भाबना होती है। और अधिक मात्रा में नशीले पदार्थो के सेवन  से भी इसकी सम्भाबना बढ़ जाती है
  • दाद खाज खुजली  परजीवी के कारण होता है जो  हमारी  त्वचा की बाहरी  कोशिकाओं में पनपता है। एवं  कई तरह  से फैलता  है।  मनुष्य द्वारा किसी संक्रमित वस्तु को छूने से भी  संक्रमण  हो जाता  है जैसे  कपड़े,  बिस्तर आदि।

 खुजली और जलन  होने के अलावा और भी  कई लक्षण होते हैं जैसे –

  •  सरीर पर  लाल चकत्ते के रूप में दिखाई देना ।
  • आमतौर पर दाद  बाहरी तरफ से किनारों पर लाल और उभरा हुआ होता  है।

दाद खाज खुजली से कैसे बचें?

  • बचाब  के लिए अपने आहार और जीवनशैली में कुछ बदलाव करना  ज़रूरी हैं। अपने भोजन  में कुछ आहार  शामिल करने से फंगल इन्फेक्शन  होने के खतरे से बचा जा सकता है 
  • जैसे अपने भोजन में विटामिन-ई से युक्त खाद्य पदारेर्थों का सेवन जरूर करें। इसकी मदद से हमारे शरीर की इम्युनिटी पावर  मजबूत होती है जिसकी मदद से शरीर  फंगस को नष्ट कर देता है नियमित साफ़ सफाई करनी चहिये  ।
  • क्यूंकि  संक्रमित व्यक्ति द्वारा प्रयोग की गई  बस्तुओं  से दूसरे ब्यक्ति में भी यह इन्फेक्शन बहुत आसानी से हो जाता है ।साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखें और संक्रमित व्यक्ति द्वारा उपयोग  की हुई कोई भी वस्तु को प्रयोग नहीं करना चाहिए।
  • ज्यादा तला हुआ और मिर्च मसालेदार  खाना ,   नशीले पदार्थों का सेवनबी इसकी सम्भाबना होती है ।
  • दाद वाली जगह पर बार-बार छुएं नहीं इस से इन्फेक्शन और भी जगह फैल  सकता है 

दाद खाज खुजली की आयुर्वेदिक दवा

 

खाज,खुजली से आराम पाने के लिए  घरेलू नुस्खों का प्रयोग सबसे अच्छा होता   हैं। चलिये जानते हैं कि वह घरेलू नुस्ख़े क्या   हैं और हम उन नुशको का किस प्रकार से इस्तमाल कर सकते हैं  

नारियल तेल का इस्तेमाल(Coconut Oil: Home Remedies for Ringworm)

दाद खाज खुजली के लिए कपूर और नारियल तेल

नरियल तेल त्वचा संबंधी समस्याओं के लिए बहुत ही  अच्छा माना गया  है। यह न सिर्फ खुजली वाली त्वचा से राहत दिलाता  है। त्वचा  को नरम  बनाय रखता है । 50 ग्राम नारियल तेल में 10 ग्राम कपूर पीसकर मिला लें और सुबह दोपहर शाम तीन बार इंफेक्शन वाली जगह पर हल्के हाथ से मालिश करें इससे दाद खाज खुजली में बहुत जल्द राहत मिल जाती है

दाद खाज खुजली में लहसुन का इस्तमाल 

  

 लहसुन में  (Ajoene) नाम एक  एंटी फंगल एजेंट  (Anti–fungal agent) पाया जाता  है।  जो फंगल इन्फेक्शन  को ठीक  करता है। लहसुन की एक कली  छीलकर उसकी।  स्लाइस काट लें, प्रभावित जगह  पर लहसुन काट कर  रखे और उस पर  एक पट्टी लपेट लें और रात भर इसे बंधा रहने दें । आप चाहें तो  लहसुन के पेस्ट का भी इस्तेमाल (khujli ke upay) कर सकते हैं।

दाद खाज खुजली में एलोवेरा का इस्माल   Aloevera is Beneficial for Ringworm 

 

एलोवेरा  एक एंटी-फंगल और जीवाणुरोधी दबा होते है। प्रभावित त्वचा पर सीधे ऐलोवेरा का जेल लगाएं और रात भर के लिए छोड़ दें। यह दाद चकत्ते  को ठीक करता है। और यह त्वचा को स्वस्थ रखने के लिए बहुत अच्छा पोषक तत्व और  है।और इसके जल्दी प्रणाम के लिए आप एलोवेरा जेल में कपूर मिलाकर दाद या खुजली पर लगाएं इससे आपको बहुत तेज परिणाम दिखाई देंगे और इसका आपकी त्वचा पर कोई बुरा असर भी नहीं होता

 

दाद के लिए करेले का रस और गुलाबजल का इस्तमाल  Bitter Gourd and Rose Water:

 

करेले के कुछ  पत्तो  का रस और थोड़ा  गुलाबजल मिलाकर दाद बाले स्थान पर लगाएं। इससे दाद खाज खुजली में  फायदा होता है। करेले के पत्तो में एंटी फंगल तत्व पाए जाते हैं जो की दाद पर बहुत जल्दी असर दिखाना शुरू करते हैं आप इस का इस्तमाल दिन में दो से तीन बार कर सकते हैं 

दाद खाज खुजली में नीम का इस्तमाल  Neem  is Beneficial for Ringworm

 

नीम की  पत्तियों को पानी में उबालकर पानी को ठंडा कर लें।  उस के बाद  इस पानी को नहाने के लिए इस्तेमाल में ले  दाद और खुजली में बहुत ही आराम मिलेगा । नीम हमारी त्वचा के लिए सर्वाधिक महत्वपूर्ण ओषधि माना जाता है 

यदि आपको इंफेक्शन बहुत अधिक है तो आप नीम की पत्तियों का पेस्ट बनाकर इंफेक्शन वाली जगह पर लगाएं एवं एक चम्मच नीम के रस में एक चम्मच नींबू का रस मिला कर नियमित रूप से पियें इससे आपकी रक्त की अशुद्धियां दूर होंगी और बार-बार होने वाले दाद खाज खुजली से छुटकारा मिल जाएगा

खीरे से करें दाद का इलाज  Cucumber: Home Remedies for Ringworm

 

आप इस का इलाज खीरा से भी कर सकते हैं।एक खीरे  रस में रूई को भिगोएं और दाद या खुजली बाली जगह पर लगा लें इस से  खुजली का इलाज सम्भब है यदि खुजली अत्यधिक हो रही है तो आपको तुरंत आराम मिल जाएगा इसका इस्तेमाल दिन में दो ऐसे ही 3 बार कर सकते हैं इससे जल्द से जल्द खुजली ठीक होने लगेगी

आप को डॉक्टर के पास जाना चाहिए ? (When to Contact a Doctor?)

यह तो हम सभी जानते होंगे की  दाद खाज खुजली कोई जान लेवा बीमारी नहीं होती है .फिर भी साबधानी अत्यंत मह्त्बपूर्ण है. इस लिए  इस की शुरुआत में ही घरेलू उपचारों द्वारा इलाज कर लेना  चाहिए। लेकिन यदि आराम न हो  या दाद तेजी से बढ़ रहा हो तो तुरन्त डॉक्टर से सम्पर्क करना चाहिए।